53 लोहार समुदाय के टॉपर छात्र-छात्राओं को किया गया पुरस्कृत

By Satish 4 Comments
बाल प्रतिभा सम्मान समारोह 2021

पटना, बिहार (रविवार, 30 मई, 2021) | अनुसूचित जनजाति (Scheduled Tribes) लोहार समुदाय (Lohara Community) की ओर से राज्य स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन कर कक्षा 10वीं और 12वीं के 53 टॉपर छात्र-छात्राओं को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए आज पुरस्कृत कर मनोबल बढ़ाया गया। कक्षा 12वीं के टॉपर छात्र-छात्राओं को 5100 रु. की पुरस्कार और प्रशंसा-पत्र (Appreciation Letter) तथा कक्षा 10वीं के टॉपर छात्र-छात्राओं को 4100 रु. की पुरस्कार और प्रशंसा-पत्र (Appreciation Letter) दिया गया है। आगे विस्तार से पढ़िए -


सामाजिक संस्था "लोहार जनसंघ (बिहार)" के तत्वधान में "लोहार शिक्षा केंद्र बाल प्रतिभा सम्मान समारोह 2021" का वार्षिक आयोजन ऑनलाइन 03:00 PM बजे से किया गया, जिसमें इस वर्ष बिहार बोर्ड (Bihar School Examination Board) के द्वारा आयोजित 10वीं और 12वीं का परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले बिहार के लगभग सभी जिलों के अनुसूचित जनजाति (ST) लोहार समुदाय (Lohara Community) के छात्र - छात्राओं ने भाग लिया।

आगे आयोजक के द्वारा "अपना लोहार (www.apnalohara.com)" को बताया गया कि कक्षा 10वीं में प्रथम पुरस्कार 4100 रू कृतिका कुमारी शर्मा (गया), द्वितीय पुरस्कार 3100 रू संजना कुमारी (पूर्वी चंपारण), तृतीय पुरस्कार 2100 रू दिव्यांशु कुमार (सारण) को दिया गया जबकि 12वीं का प्रथम पुरस्कार 5100 रू सुरभि शर्मा (वैशाली), द्वितीय पुरस्कार 4100 रू अंशु कुमार (पटना), तृतीय पुरस्कार 3100 रू सूरज कुमार (औरंगाबाद) समेत राज्य स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कक्षा 10वीं के 12 ऐसे छात्र-छात्राओं को भी ₹551 का पुरस्कार और प्रशंसा पत्र दिया गया है जिनका अंक 439 (87.80%) से 461 (92.20%) अंक प्राप्त है तथा 18 ऐसे छात्र-छात्राओं को भी ₹500 का पुरस्कार और प्रशंसा पत्र दिया गया है जिनका अंक 400 (80%) से 437 (87.40%) अंक प्राप्त है। कक्षा 10वीं के कुल 33 छात्र-छात्राओं का चुनाव किया गया है। एवं कक्षा 12वीं के 10 ऐसे छात्र-छात्राओं को भी ₹751 का पुरस्कार और प्रशंसा पत्र दिया गया है जिनका अंक 403 (80.60%) से 427 (85.40%) अंक प्राप्त है। 7 ऐसे छात्र-छात्राओं को भी ₹700 का पुरस्कार और प्रशंसा पत्र दिया गया है जिनका अंक 389 (77.80%) से 397 (79.40%) अंक प्राप्त है। कक्षा 12वीं के कुल 20 छात्र-छात्राओं का चुनाव किया गया है। 10 वीं और 12वीं के कुल 53 छात्र - छात्राओं को पुरस्कार राशि एवं प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। राज्य में प्रथम स्थान पूर्वी चंपारण एवं वैशाली जिला को संयुक्त रूप से मिला जबकि द्वितीय स्थान और तृतीय स्थान क्रमशः गया और पश्चिमी चंपारण को मिला। आगे पढ़िए -

ज्ञात हो कि कृतिका कुमारी शर्मा ने बिहार बोर्ड द्वारा 5 अप्रैल को घोषित 10वीं के वार्षिक रिजल्ट में लगभग 17 लाख बच्चों में से 5 वी स्थान प्राप्त कर बिहार के लोहार (LOHARA) अनुसूचित जनजाति समुदाय को गौरवान्वित किया है।

आयोजन का अध्यक्षता राजकुमार विश्वकर्मा, मुख्य अतिथि ज्ञानेन्द्र नीरज, विशिष्ट अतिथि अमीरी लाल ठाकुर एवं अशोक शर्मा, स्वागतकर्ता जी. एन. शर्मा तथा धन्यवाद ज्ञापन कैलाश ठाकुर ने किया।

आयोजक एबी शर्मा ने बताया आयोजन का उद्देश्य समाज में शिक्षा के प्रति लोगों में जागरूकता लाना, वैसे बच्चे जिनके माता - पिता आर्थिक रूप से कमजोर है या नहीं रहे, उन्हें समाज के द्वारा आर्थिक सहयोग कर कम से कम 12 वी तक पढ़ाना जैसे इस वर्ष समाज के दो बच्चों जितेंद्र कुमार (सीतामढ़ी) और बबीता कुमारी (भोजपुर) को 12 वीं में समाज के द्वारा पढ़ाया जा रहा है तथा समाजिक एकता, भाईचारा और जागरूकता लाना है।

कार्यक्रम में भगवान शर्मा, किशोर शर्मा, एस. के. शर्मा, प्रमोद ठाकुर, जयप्रकाश शर्मा, राजेश विश्वकर्मा, संजीव कुमार, ब्रजबिहारी शर्मा, सुधेश शर्मा, राकेश शर्मा, पिंटू विश्वकर्मा, राजीव रंजन शर्मा, बिजय विश्वकर्मा, सुदर्शन प्रसाद, हरिदेव शर्मा, अमन कुमार, अनिल कुमार, फुलटुन कुमार, अजीत आकाश, राधाकांत ठाकुर, कृष्ण मोहन शर्मा, दिलीप विश्वकर्मा, राजकुमार शर्मा, उमेश शर्मा, सतीश कुमार शर्मा, धामू शर्मा, अर्जुन शर्मा, डॉ. सोनी कुमारी शर्मा, ममता कुमारी, अभिषेक कुमार, प्रशांत कुमार, सुजीत कुमार, कन्हैया कुमार, कामेश्वर कुमार, मुकेश कुमार समेत देशभर से बिहार के लोहार समाज के बुद्धिजीवियों ने भाग लिया।

आयोजन समिति के द्वारा आयोजन में उपस्थित सभी अतिथियों, भाग लेने वाले बच्चों, पुरस्कार राशि देने वाले सदस्यों एवं मीडिया के सदस्यों का हृदय से आभार व्यक्त किया गया।

इसे पढ़े:-
Read More
आप हमें बता सकते हैं:-

अगर आपके पास भी कोई प्रेरणादायक कहानी, सामाजिक जानकारी, लेख, समाज हित के लिए कोई सकारात्मक सुझाव है, या कोई संदेश देना चाहते हैं तो हमें बताएं, हम आपकी बात सबको बताएंगे.

मन मे जज्बा हो तो आदमी कुछ भी कर सकता है - राजकुमार विश्वकर्मा प्रेरणादायक कहानी

By Satish 2 Comments
राजकुमार विश्वकर्मा प्रेरणादायक कहानी
Prernadayak Kahani - Inspirational Story In Hindi
दोस्तों, मन मे जज्बा हो तो आदमी कुछ भी कर सकता है, बशर्ते उसे अपने आप से हार नही मारना चाहिए। आपको लगातार कोशिश करती रहनी चाहिए जब तक की मंजिल मिल ना जाये। आज आप इस आर्टिकल में एक ऐसे जबरदस्त उत्साहपूर्ण प्रेरणादायक कहानी (Prernadayak Kahani) पढ़ने वाले हैं जो आपके दिमाग के बाती जला देगा। मंजिल को पाने के लिए कितनी संघर्ष करनी पड़ी और ठोकरे खानी पड़ी लेकिन हार नही मने। अंत मे मंजिल मिल ही गई। तो आप इस आर्टिकल को एक बार ध्यान से अंत तक पढ़ें।

राजकुमार विश्वकर्मा प्रेरणादायक कहानी - Rajakumar Vishvakarma Preranadayak kahani

मैं राजकुमार विश्वकर्मा (सहायक लोको पायलट भारतीय रेलवे Assistant Loco Pilot Indian Railway) मेरा जन्म जौनपुर जिले के मछलीशहर तहसील के सुजानगंज ब्लॉक के अचकारी गाँव मे हुआ हैं और मेरी प्रारंभिक शिक्षा गाव के ही सरकारी स्कूल में हुई। बाद में हाईस्कूल की परीक्षा श्री स्वामी कृष्णानंद इंटर कॉलेज बेलवार (Sri Swami Krishnanand Inter College, Belwar) में हुई। उसके बाद मैंने गांधी पॉलिटेक्निक मुजफ्फरनगर (Gandhi Polytechnic Muzaffarnagar) से 2014 में Mechanical Engineering (Production) से डिप्लोमा पास किया।

उसके बाद मैंने प्राइवेट जॉब के लिए हरिद्वार निकल गया। वहा सिडकुल की सड़कों पर अपने दोस्तों राम अवध सुमित चौरसिया के साथ काफी घूमने के बाद एक कंसल्टेंसी को आधा वेतन देने के बाद 6300 रु. मासिक वेतन पर जॉब मिली। यकीनन वो मेरे जीवन का पहला अनुभव था। किसी नौकरी कों पाने के लिए पढ़ाई के दौरान मैंने सोचा नही था कि इतनी मसक्कत करनी पड़ती है।

फिर जैसे तैसे मैने 3 महीने हरिद्वार में Anchor Health & Beauty Care Pvt Ltd. में जॉब करने के बाद Motherson Sumi Systems Limited, Faridabad में जॉइन किया और वहां पर 1 साल तक काम किया फिर उसके बाद कंपनी ने अप्रेंटिस पूरा होने के बाद निकाल दिया।

हम फिर पहले जैसे स्थिति में आ गए। हालाकिं एक साल का अनुभव था, लेकिन वो किसी काम का नही था। फिर शुरू हुआ कंपनी तलाशने का दौर Consultancy को पकड़ने का दौर मेरी एक सलाह है कि अगर आप दिल्ली में रहे है तो कभी भी consultancy वालो को पैसा ना दे। मेरे काफी पैसे गए लेकिन जॉब नही मिली।

फिर मेरे एक जानकार ने मेरी जॉब Minda Vast Pvt Ltd. मानेसर में जॉब लगवाई। वहां मैने 50 दिन तक काम किया। फिर वहां से छोड़ने के बाद Sanden Vikas Pvt Ltd, Faridabad Haryana में 20 दिन तक जॉब किया। उसके बाद मैंने 8 फरवरी 2016 को मानेसर में Subros Limited में 6 महीने तक जॉब किया। फिर वहां से छोड़ के Noida में Cyient Limited में जॉब किया और सोचा कि अब इसी में करना हैं। लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। मेरे बीमार हो गया और मेरी जॉब वहां से भी छूट गयी। मैं घर आ गया और 4 महीने घर पर रह गया। मैन अपने जीवन मे बहुत सारी कंपनी को पकड़ा छोड़ा, जो की मेरे जीवन की बड़ी गलती थी। अगर आप निजी सेक्टर में काम कर रहे हैं तो ये गलती न करे।

फिर मैं सितंबर 2017 में अपने पिताजी के पास बेलगाम कर्नाटक आ गया और वह Aequs Engineered Plastic Pvt Limited में 20 महीने काम किया। जब तक की मेरी RRB Group D की Central Railway से जोइनिंग नही आ गयी। ये 20 महीने बहुत महत्वपूर्ण रहे क्योकि 10 घंटे जॉब करने का बाद changing shifts में पढ़ाई आसान नही रहती हैं और तब जब आपको पढ़ाई छोड़े 3 साल के ऊपर हो गए हो लेकिन मन मे जज्बा हो तो आदमी कुछ भी कर सकता है, बशर्ते उसे अपने आप से हार नही मारना चाहिए।

आपको लगातार कोशिश करती रहनी चाहिए जब तक की मंजिल मिल ना जाये। इस दौरान कई नकारात्मक खयाल दिमाग मे आये। क्या मैं उन बच्चों से मुकाबला कर पाऊंगा, जो इलाहाबाद और पटना जैसे शहरों में रहके तैयारी कर रहे है। फिर मन में एक ही ख्याल आता रहा, करने के लिए बस एक बहाना ही काफी है।

और मेहनत करता रह गया और मेरे Exam के 4 पेपर रिजल्ट निकला - RRB Je & DRDO का Mains में नही हुआ, हालांकि कोशिश तो पूरी रही। लेकिन 2 exams में अंतिम जोइनिंग मिली। पहले मैंने Central Railway Pune Divisions में Pointsman के रूप में दो महीने काम किया। उसके बाद RRB ALP Secunderabad में November 2019 में जॉइन किया।

तब से मैं अपनी सेवाएं यही दे रहा हूं। अन्त में मैं यही कहना चाहुगा की आदमी को हार नही मानना चाहिये कोशिश करती रहनी चाहिये।

दोस्तों, फिर मिलेंगे एक नय जबरदस्त उत्साह पूर्ण प्रेरणादायक कहानी (Prernadayak Kahani - Inspirational Story In Hindi) के साथ तब तक इस कहानी को पढ़ कर आपको थोड़ा भी प्रेरणा और उत्साह मिली हो तो इसे फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर करें और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया भी जरूर दे। धन्यवाद
Read More

State Wise List Of ST, SC, OBC In India - All Caste List In India - 2021

By Satish
List of tribes in India, SC Caste In india, List of caste in OBC category, OBC caste list in India, OBC jati List
All Caste List In India - 2021

भारत में अनुसूचित जनजातियों की राज्यवार सूची / State Wise List Of Scheduled Tribes In India, भारत में अनुसूचित जातियों की राज्यवार सूची / State Wise List Of Scheduled Castes In India, भारत में अन्य पिछड़ा वर्ग की राज्यवार सूची / State Wise List Of Other Backward Classes In India.


हेल्लो दोस्तों, अगर आप भारत के किसी भी राज्य में अनुसूचित जनजाति (ST) / अनुसूचित जाति (SC) / अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) समुदाय से हैं तो कोई केंद्रीय सरकारी नौकरी या कोई अन्य फॉर्म भरते वक्त हो सकता है आपको ST/SC/OBC जाति की केंद्रीय सूची की जरूरत पड़े। इस आर्टिकल में आप केंद्र सरकार की ओर से अनुसूचित जनजातियों / अनुसूचित जातियों / अन्य पिछड़ा वर्ग की राज्यवार सूची पढ़ेंगे। जो सरकार के ऑफिसियल वेबसाइट से लिया गया हैं, जिसका लिंक भी आपको नीचे मिला जाएगा एवं PDF भी Download कर सकते हैं।

State Wise List Of ST, SC, OBC In India
Andaman and Nicobar Andhra Pradesh
Arunachal Pradesh Assam
Bihar Chandigarh
Chattisgarh Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu
Delhi Goa
Gujarat Haryana
Himachal Pradesh Jammu and Kashmir
Jharkhand Karnataka
Kerala Ladakh
Madhya Pradesh Maharashtra
Manipur Meghalaya
Mizoram Nagaland
Odisha Puducherry
Punjab Rajahan
Sikkim Tamil Nadu
Tripura Telangana
Uttar Pradesh Uttarakhand
West Bengal

दोस्तों, आशा है यह आर्टिकल भारत में अनुसूचित जनजातियों की राज्यवार सूची / State Wise List Of Scheduled Tribes In India, भारत में अनुसूचित जातियों की राज्यवार सूची / State Wise List Of Scheduled Castes In India, भारत में अन्य पिछड़ा वर्ग की राज्यवार सूची / State Wise List Of Other Backward Classes In India आपको पसंद आया हैं। इस आर्टिकल में आपको जानकारी मिली हैं - अनुसूचित जनजाति में कौन कौन आते हैं?, भारत राज्य वार में जनजातियों की सूची, भारत में अनुसूचित जातियों की सूची, भारत मे कितनी जातियां है? OBC में कितनी जातियां है?, अनुसूचित जाति की सूची, पिछड़ी जाति की सूची, All caste list, List of tribes in India, List of caste in India, ST Caste List in india, SC Caste list in india, List of caste in OBC category, OBC caste list in India, OBC jati List। इस आर्टिकल को Facebook, Whatsapp, Twitter, Pinterest, Telegram और अन्य सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों, रिस्तेदारो और परिचितों के साथ शेयर करें और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया दे। Castes List में किसी प्रकार के Latest change देखने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करे और हमे भी कमेंट कर या ईमेल कर बता सकते हैं। धन्यवाद
Read More