Upstox क्या है? Upstox Kya Hai In Hindi? Upstox में Demat & Trading Account कैसे खोले?

By Satish
1200 रुपया कमाने का मौका प्रति Referral - Upstox App से - ऑफर लिमिटेड टाइम

upstox ka malik kaun hai,upstox se paise kaise kamae,upstox me treding kaise kare
Upstox Se Paise Kaise Kamaye?
हेल्लो दोस्तो, Upstox क्या है? Upstox Kya Hai? Upstox में Demat & Trading Account कैसे खोले? Upstox का मालिक कौन है? Upstox से पैसे कैसे कमाए? Upstox में ट्रेडिंग कैसे करें? जानने के लिए इस पूरी आर्टिकल को जरूर पढ़े।

Upstox App 50 लाख से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ भारत के सबसे बड़े और सबसे तेजी से बढ़ते निवेश प्लेटफार्मों में से एक है। Upstox App पर फ्री में Account Open करे और दुसरो को अपना Referral link शेयर करे। आपको मिल सकता है 1200 रुपये / Referral, आफर छूट नही जाए क्योंकि आफर बदलते रहता है। Upstox App डाऊनलोड करने के लिए अभी डाऊनलोड लिंक पर क्लिक करें

अपस्टॉक्स क्या है? Upstox Kya Hai in Hindi?

अपस्टॉक्स भारत में ब्रोकिंग फर्म है जो कम ब्रोकरेज दर पर ट्रेडिंग के अवसर प्रदान करती है। कंपनी विभिन्न सेगमेंट जैसे इक्विटी (Equities), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Funds), कमोडिटीज (Commodities), करेंसी (Currency), फ्यूचर्स (Futures), ऑप्शंस (Options) पर ट्रेडिंग प्रदान करती है जो इसके Upstox Pro Web और Upstox Pro Mobile ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैं।

अपस्टॉक्स को रतन टाटा (Ratan Tata), कैपिटल (Kalaari Capital) और जीवीके डेविक्स (GVK Davix) सहित निवेशकों के एक समूह का समर्थन प्राप्त है। जिससे विश्वसनीयता और ज्यादा बढ़ जाता है।

अपस्टॉक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग, विश्लेषण, चार्टिंग और कई और समृद्ध व्यापारिक सुविधाएँ प्रदान करता है। इस प्लेटफॉर्म पर मोबाइल फोन और वेब ब्राउजर के जरिए खरीद बिक्री के लिए ऑर्डर लगाना आसान है। अपस्टॉक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Omnisys NEST OMS (ऑर्डर मैनेजमेंट सिस्टम) और Omnisys NEST RMS (रिस्क मैनेजमेंट सिस्टम) पर बनाया गया है।

Upstox Pro के माध्यम से Equity F&O, Equity Indra-day, Commodities and Currency Derivatives में ट्रेडिंग उपलब्ध है। Upstox Pro व्यापारियों के लिए अपस्टॉक्स की सशुल्क सेवा है।

Upstox का मालिक कौन है? (Upstox Ka Owner Kaun Hai?)

Upstox का मालिक एक निजी कंपनी RKSV Securities India Private Limited हैं, जो नई दिल्ली में है। रवि कुमार (Ravi Kumar), कविथा सुब्रमनियन (Kavitha Subramanian) और श्रीनि विष्वनाथ (Shrini Viswanath) इस कंपनी के Co-founder है।

Upstox से पैसे कैसे कमाए? - Upstox Se Paise Kaise Kamaye?

Upstox में आप दो तरह से पैसे कमा सकते हैं
  1. Refer and Earn से
  2. Investment कर
#1. Refer and Earn :- जब आप Upstox में खाता खोलेंगे तो आपको एक Referral लिंक मिलता है। उस Referral लिंक को अपने दोस्त, परिचितों में या सोशल मीडिया या ब्लॉग/वेबसाइट या कही भी शेयर करते है और अगर कोई व्यक्ति आपके Referral लिंक पर क्लिक कर Upstox में Successfully Account Open करता है तो आपके खाता में वर्तमान समय में जो आफर है उसके हिसाब से 1200 रुपये तक जोड़ दिए जाएंगे।

#2. Investment कर :- जैसा कि पहले ही बता चुके है Upstox इक्विटी (Equities), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Funds), कमोडिटीज (Commodities), करेंसी (Currency), फ्यूचर्स (Futures), ऑप्शंस (Options) सेगमेंट में ट्रेडिंग (खरीद बिक्री) करने की सुविधा देती है, जहाँ आप कम दामो में खरीद कर अधिक दामो में बेचकर पैसे कमा सकते हैं।

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए और अधिक जानकारी बुक, इंटरनेट, यूट्यूब वीडियो के माध्यम से ले सकते हैं। Upstox के यूट्यूब चैनल पर भी बहुत कुछ सिखाया जाता है।

Upstox में आपको Account क्यो खोलना चाहिए? इसमे क्या क्या फायदा मिलने वाला है? Upstox App पर Brokerage Charge कितना लगता है?

Upstox को Google Play Store पर 10 मिलियन से ज्यादा लोगो ने डाऊनलोड किया है। 4.4 रेटिंग मिला है जिसे 3.5 लाख लोगों ने रेट किया है। इतना डाऊनलोड और रेटिंग India में जितने भी Discount Brokerage Apps उसमे सबसे अधिक है। इससे यह प्रतीत होता है Upstox को काफी लोगो ने पसंद किया है।
  • Upstox App पर Account बिल्कुल फ्री में खुलता है। अगर आप दूसरे किसी को अपने Referral Link से Upstox App में Account open करवाते है तो आपको 1200 रुपये मिलेगा।
  • Upstox में AMC Charges (Demat account maintenance charges) बिल्कुल ZERO (फ्री) है।
  • Upstox App पर Mutual Funds और IPOs में ट्रेडिंग करने पर 0 (Zero) Brokerage लगता है।
  • Upstox App पर Equity Intraday, Futures & Options, Currency और Commodity सेगमेंट में ट्रेडिंग करने पर बहुत Low Brokerage चार्ज लगता है। सिर्फ ₹20/Order या 0.05% जो भी कम हो तथा Equity Delivery पर भी ₹20/Order या 2.5% जो भी कम हो।
  • Upstox ट्रेडिंग प्लेटफार्म Fast और Secure हैं। Server Down होने का खतरा नही है, बिल्कुल 0 Down times है।
  • सबसे अच्छा बात Upstox में Account Open करना Paperless है यानी घर बैठे कही से सिर्फ 5 मिनट में ऑनलाइन Account खोल सकते हैं।

Upstox में Demat & Trading Account खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज क्या क्या है?

किसी भी Stock Broker के पास Demat & Trading Account Open करने के लिए PAN CARD, Proof of Identity, Proof of Address, Proof of Income, Proof of a corresponding bank account देना पड़ता है।

Upstox में Demat & Trading Account ऑनलाइन खोलने अगर आपके पास Pan Card और Aadhar Card, Bank Account के डिटेल्स और आधार कार्ड से लिंक किया हुआ मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी जिस पर OTP Verification code आएगा तो सिर्फ 5 मिनट में खाता खोल जाएगा।

इसके अलावा भी Upstox में Account खोलने के लिए बिकल्प है जिसे आप Documents required to open a trading account पढ़ सकते हैं

Upstox में Demat & Trading Account कैसे खोले?

Upstox App पर एकाउंट बनाने का Stap By Stap तरीका क्या है? - How to create account on Upstox App Step By Step Process In Hindi

Upstox App पर Account create करने का step by step निम्नलिखित तरीका है:-
  • Upstox App पर एकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले Download Upstox App पर क्लिक कर Google Play Store से Upstox App Install करे और Open करे।
  • Open पर क्लिक करने के बाद आपके सामने दो ऑप्शन मिलेगा Create a new account और Log in, आपको Create a new account पर क्लिक करना है।
  • अब आपसे Email Id और Mobile Number एंटर करने को बोला जाएगा जिसपर OTP आएगा। OTP डाल कर मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी वेरिफिकेशन कराए।
  • अब आपसे कहा जायेगा अपने पास Pan Card और Aadhar Card रख लीजिए। Continue पर क्लिक कर Pan Card का नंबर और Pan Card पर लिखा हुआ अपना Date of Birth एंटर कर Next बटन पर क्लिक करे।
  • अब आपसे कुछ जानकारी पूछी जाएगी जैसे - Gender, Birth Date, Marital Status, Occupation, Income, Trading Experience पूछा जाएगा। उसे क्लिक कर Continue पर क्लिक करें।
  • अब Congratulations आपका नाम You can get a free Stock for ₹0 आएगा। अगर आप फ्री स्टॉक लेने चाहते है तो I want a stock free 0 पर क्लिक कर आगे बढ़े।
  • अब Digital Signature करने को बोला जाएगा अपना Digital Signature कर Continue पर क्लिक करें।
  • अब Verification का ऑप्शन आएगा जो DigiLocker से आधार कार्ड से वेरीफाई होगा। इसे पूरा करने के लिए Connect Now पर क्लिक कर आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा डाल कर पूरा करे।
  • Upload Documents ऑप्शन अब खुलेगा, अपना Pan कार्ड का फोटो अपलोड कर Continue पर क्लिक करें।
  • एक अपना Selfie Photo लेकर Accept पर क्लिक करें।
  • अब Bank Details में Bank Name, IFSC Code, Bank Account एंटर कर Continue पर क्लिक करें। 1 रु. आपके खाता में Send किया जाएगा। अपना Verify Account Confirm करे।
  • Brokerage Plan में Sign Up for - Free का चुनाव कर आगे बढे।
  • अब आपसे Segment Selection के बारे में पूछा जाएगा।
Once your Upstox account is opened, you'll be able to trade in Stocks and Mutual Funds (एक बार आपका अपस्टॉक्स खाता खुल जाने के बाद, आप स्टॉक और म्यूचुअल फंड में व्यापार करने में सक्षम होंगे)

Would you also like to activate your Future and Options, Currency and Commodity segment as well? (क्या आप अपने फ्यूचर और ऑप्शंस, करेंसी और कमोडिटी सेगमेंट को भी सक्रिय करना चाहेंगे?)
> Yes, Activated these segments
> No, I'll do it late

अगर आप Yes पर क्लिक कीजियेगा तो 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट देना होगा। इसे आप बाद में भी Activate कर सकते है। No, I'll do it late चुनाव कर Continue पर क्लिक कर आगे बढ़ सकते है।
  • अब eSign Application ऑप्शन आएगा जिसमे eSign with Aadhar OTP का चुनाव कर प्रक्रिया पूरा करे। इसमे आपके आधार के साथ रजिस्टर मोबाइल नंबर/ईमेल आईडी पर एक OTP आएगा, उसे एंटर कर प्रक्रिया पूरा करे। Congratulations आपका एकाउंट खुल गया। एक दो दिन में Upstox टीम के तरफ से Verification पर प्रक्रिया पूरा कर आपके रजिस्टर ईमेल आईडी पर User Id और पासवर्ड भेज दिया जयेगा। अब आप निवेश कर सकते हैं और अपना Referral link शेयर कर पैसा कमा सकते हैं।

अपस्टॉक्स में ट्रेडिंग कैसे करे? Upstox me trading kaise kare?

आप Beginner या Experienced है, Upstox में ट्रेडिंग करना बिल्कुल आसान है। इस प्लेटफार्म पर किसी भी कंपनी के शेयर बहुत आसानी से खरीद या बेच सकते हैं। सबसे पहले Watchlist बनाये, दूसरा Fund Add करे और तीसरा स्टेप Stock Buy / Sell करे।

#Create Watchlist
जब आप Upstox में log In करेंगे तो Upstox के तरफ से कुछ टॉप कंपनी के नाम का Watchlist मिल जाएगा। आप अपना मन पसंद कंपनी के Watchlist बनाने के लिए ऊपर ऑप्शन मिल जाएगा। जहा Create new watchlist पर क्लिक कर अपना नई Watchlist बना सकते हैं। Watchlist किसी शेयर को ट्रैक करने में काफी मदद करता है। यहाँ आप शेयर में हो रहे Up & Down देख सकते हैं और सही समय पर Buy या Sell भी कर सकते हैं।

#Add Funds
Fund ऑप्शन पर क्लिक कर आप जितना Investment करना चाहते हैं उतना Fund Add करे। फण्ड ऐड करने के लिए कई ऑप्शन आपको मिल जाएगा जैसे - UPI, Internet Banking, NEFT/RTGS/IMPS.
WatchlistUpstox

#Buy/ Sell Stocks
Upstox App में किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के लिए Watchlist में उस स्टॉक को ऐड कर Company के नाम पर क्लिक करने पर BUY और SELL का ऑप्शन मिल जाता है। जहाँ आप खरीद और बेच सकते है। अगर आप पहले से किसी कंपनी का शेयर खरीदे हुए है तो Portfolio से Square off option का उपयोग कर भी Sell कर सकते है।

अगर आप Beginner है तो छोटा Amount Invest कर शुरुआत करे और Upstox के यूट्यूब पर ट्यूटोरियल सीखे।

#Funds Withdraw
Upstox App से Fund को Bank Account में भेजने के लिए Fund ऑप्शन पर क्लिक करें, उसके बाद Withdraw पर क्लिक करे और बैंक में अपना amount भेजे। एक बात ध्यान रखे जब किसी स्टॉक को अपने एकाउंट से Delivery में Sell किया जाता है तो 80% amount तुरंत मिल जाता है और 20% amount अगले दिन Add होता है।

अभी आफर चल रहा है - फ्री में Upstox App पर Account Open करे और दूसरों को Refer कर ₹500 / Refer कामये

जब आपके Referral link से कोई Upstox में खाता Successfully खोलेगा तो ₹800 कमाएं + ₹400 जब आपका रेफ़रल ट्रेड करता है यानी 1200 रुपये / Referral कमाने का मौका। आज ही अकाउंट बनाये - यहाँ क्लिक करें।
👇👇👇👇

दोस्तों, आशा है इस आर्टिकल में दी गई जानकारी - Upstox क्या है? Upstox Kya Hai? Upstox में Demat & Trading Account कैसे खोले? Upstox का मालिक कौन है? Upstox से पैसे कैसे कमाए? Upstox में ट्रेडिंग कैसे करें? आपको पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर करे और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया दे। धन्यवाद
Read More
आप हमें बता सकते हैं:-

अगर आपके पास भी कोई प्रेरणादायक कहानी, सामाजिक जानकारी, लेख, समाज हित के लिए कोई सकारात्मक सुझाव है, या कोई संदेश देना चाहते हैं तो हमें बताएं, हम आपकी बात सबको बताएंगे.

जातीय जनगणना क्या है? Jatiy Janaganana Kya Hai in Hindi? जातीय जनगणना क्यों जरूरी है? Jatiy Janaganana Kyo Jaruri Hai In Hindi?

By Satish
Jatiy Janaganana Kya Hai in Hindi, Jatiy Janaganana Kyo Jaruri Hai In Hindi,
जातीय जनगणना क्यों जरूरी है?

हेल्लो दोस्तो, क्या आप जानना चाहते हैं कि "जातीय जनगणना क्या है? Jatiy Janaganana Kya Hai in Hindi? जातीय जनगणना क्यों जरूरी है? Jatiy Janaganana Kyo Jaruri Hai In Hindi? तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।


जैसा कि आप जानते है कि भारत में 2021 की जनगणना होने ही वाला है। कई राजनीतिक दलों के द्वारा जातीय जनगणना (caste census) कराने की मांग वर्षो से हो रही है। 2018 में वर्तमान नरेंद्र मोदी जी के सरकार ने घोषणा की थी कि आगामी जनगणना में वह पिछड़ी जातियों की गणना कराएगी। लेकिन जातीय जनगणना के संबंध में सरकार से लोकसभा में 20 जुलाई 2021 को पूछे गए प्रश्न में सरकार के तरफ से केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय (Union Minister of State for Home Nityanand Rai) ने जवाब दिया कि फ़िलहाल केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति (Scheduled Castes) और अनुसूचित जनजाति (Scheduled Tribes) के अलावा किसी और जाति की गिनती का कोई आदेश नहीं दिया है। उसके बाद से न्यूज़ मीडिया, सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा चर्चित विषय जातीय जनगणना को लेकर है। जातीय जनगणना को लेकर कही डिबेट हो रहा है, तो कही आंदोलन हो रहा है। वर्तमान समय में हर पुब्लिक प्लेटफार्म पर टॉप ट्रेंडिंग टॉपिक जातीय जनगणना (caste census) है।

जनगणना किसे कहते हैं? जनगणना क्यों महत्वपूर्ण है? आशा है आप पिछले आर्टिकल में पढ़ ही चुके होंगे। अगर नही पढ़े है तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद नीचे आपको लिंक मिल जाएगा उस पर क्लिक कर जरूर पढ़ लीजिये। आगे पढ़िए - जातीय जनगणना क्या है? What is caste census in hindi जातीय जनगणना क्यों जरूरी है? Why is caste census necessary in hindi?

जातीय जनगणना क्या है? Jatiy Janaganana Kya Hai in Hindi?

जनगणना में किसी व्यक्ति की जाति से संबंधित सूचना का समावेश होना जातीय जनगणना कहलाता है। जातीय जनगणना के इतिहास क्या है? 140 वर्ष पहले 1881 में भारत में पहली जनगणना (Janaganana) हुई थी। भारत में आखिरी बार जातिय जनगणना (caste census) 1931 में हुई है। 1941 में जातीय जनगणना (caste census) हुई थी लेकिन द्वितीय विश्वयुद्ध (second World War) छिड़ जाने के कारण आंकड़ों को संकलित नहीं किया जा सका था। 2011 की जनगणना में भी जाति की जानकारी ली गई थी लेकिन अपरिहार्य कारणों का हवाला देकर रिपोर्ट जारी नहीं की गई और कहा जाता है कि करीब 34 करोड़ लोगों के बारे में जानकारी गलत है।

जातीय जनगणना क्यों जरूरी है? Jatiy Janaganana Kyo Jaruri Hai?

भारत में जातियों आखिरी जातीय जनगणना (Caste Census) 1931 के आधार पर है जो 90 साल पुराना है। नौ दसक में काफी कुछ बदल हुआ होगा। किसी जाति में अधिक बच्चों का जन्म हुआ होगा तो, किसी मे कम। 90 साल से देश को पता नहीं है कि किस जाति के कितने लोग हैं। जातिगत जनगणना से यह पता चलेगा कि कौन जाति अभी भी पिछड़ेपन का शिकार है, ताकि उनकी संख्या के अनुरूप उन्हें आरक्षण का लाभ देकर उनकी स्थिति मजबूत की जा सके। इसलिए जातीय जनगणना का सवाल और आवाज उठता रहा है।

जातीय जनगणना पर विभिन्न राजनीतिक दलों का बयान और पक्ष क्या है? :-
23 अगस्त 2021 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित 10 दलों के नेताओ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी (Prime Minister Narendra Modi) से मुलाकात कर जनगणना 2021 को जातिय आधारित के पक्ष में अपनी बात रखा। जातीय जनगणना पर बिहार के नेता का राय एक हैं।

जातिय जनगणना पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) का मीडिया में एक बयान है - "पूरे देश में जाति आधारित जनगणना (caste based census) हुई तो बहुत लाभदायक होगा. सभी राज्य के लोगों की इच्छा है कि जाति आधारित जनगणना (caste based census) एक बार तो जरूर होनी चाहिए। ताकि पता चल जाए कि किसकी कितनी आबादी है. ये हो जाने पर सभी के लिए बेहतर तरीके से काम होगा।" नीतीश कुमार ने सबसे पहले 1990 में जाति आधारित जनगणना (Caste Based Census) कराने की मांग की थी।

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव का जातीय जनगणना पर मीडिया में एक ब्याज है - "जब जानवरों व पेड़-पौधों की गिनती होती है, तब इंसानों की क्‍यों नहीं होनी चाहिए? सरकार के पास जातिगत समाज का आंकड़ा (caste society data) नहीं होगा तो सरकार कल्‍याणकारी योजनाएं (government welfare schemes) कैसे बना सकेगी?"

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू यादव ने जातिय जनगणना (caste census) पर 11 अगस्त 2021 को एक ट्वीट है - "अगर 2021 जनगणना में जातियों की गणना नहीं होगी तो बिहार के अलावा देश के सभी पिछड़े-अतिपिछड़ों के साथ दलित और अल्पसंख्यक भी गणना का बहिष्कार कर सकते है। जनगणना के जिन आँकड़ों से देश की बहुसंख्यक आबादी का भला नहीं होता हो तो फिर जानवरों की गणना वाले आँकड़ों का क्या हम अचार डालेंगे?" आगे उन्होंने 10 सितंबर 2021 को भी एक ट्वीट है - "जातीय जनगणना कोई राजनैतिक मुद्दा नहीं बल्कि राष्ट्र-निर्माण की अति जरूरी पहल है।सामाजिक न्याय व बंधुता का प्रश्न मनुष्यता का प्रश्न है और जातिवार जनगणना के हासिल को उसी की एक कड़ी के रूप में देखा जाना चाहिए।"

जनता दल यूनाइटेड JD(U) की तरह रास्ट्रीय जनता दल (RJD) भी यह मानती है कि "जातिगत जनगणना से यह पता चलेगा कि कौन जाति अभी भी पिछड़ेपन का शिकार है, ताकि उनकी संख्या के अनुरूप उन्हें आरक्षण का लाभ देकर उनकी स्थिति मजबूत की जा सके।"

भीम आर्मी चीफ और आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्र शेख आजाद (Chandra Shekhar Aazad) का मंगा हैं - "जातिगत जनगणना हो व जनंसख्या अनुपात में उन्हें हिस्सेदारी मिले"

2019 के फरवरी महीना में बिहार विधानमंडल (Bihar Legislature) और 2020 में बिहार विधान सभा (Bihar Legislative Assembly) में जातीय जनगणना (Caste Census)  कराने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास होने के बाद दो बार इसे केंद्र सरकार (central government) को भेजा जा चुका है।

महाराष्ट्र की विधानसभा (Maharashtra Legislative Assembly) में 8 जनवरी को जातीय जनगणना मांग का प्रस्ताव पारित हो चुका है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) राष्ट्रीय सचिव पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) ऐसी मांग कर चुकी हैं।

केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले (Ramdas Athawale) जाति गणना की मांग कर चुके हैं।

अपना दल (Apna Dal) की नेता और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल Anupriya Patel - Former Union Minister for Health & Family Welfare) भी जातीय जनगणना की मांग कर चुकी हैं।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद संघमित्रा मौर्या (Sanghmitra Maurya) ने OBC Bill पर बहस के दौरान भी जातिगत जनगणना की मागं कर चुकी हैं।

उत्तर प्रदेश में भी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) हो या Bahujan Samaj Party, जातियों का सही-सही आंकड़ा सामने लाने की मांग के समर्थन में इनका भी जोर है।

इसे भी पढ़े:-
दोस्तो, आशा है इस आर्टिकल में दी गई जानकारी - जातीय जनगणना क्या है? Jatiy Janaganana Kya Hai in Hindi? जातीय जनगणना क्यों जरूरी है? Jatiy Janaganana Kyo Jaruri Hai In Hindi? और जातीय जनगणना पर विभिन्न राजनीतिक दलों का बयान और पक्ष क्या है? आपको पसंद आया हो, तो सोशल मीडिया पर शेयर करे और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। धन्यवाद
Read More

जनगणना किसे कहते हैं? Janganana Kise Kahte Hai? जनगणना क्यों महत्वपूर्ण है?

By Satish 2 Comments
janaganana report se kya pata chalata hai, 2021 kee janaganana ka aadarsh vaaky kya hai
जनगणना से आप क्या समझते हैं?

हेल्लो दोस्तो, क्या आप जानना चाहते हैं कि "जनगणना किसे कहते हैं? Janganana Kise Kahte Hai? / जनगणना से आप क्या समझते हैं? क्यों जनगणना महत्वपूर्ण है? जनगणना रिपोर्ट से क्या पता चलता है? तो बिल्कुल सही आर्टिकल पढ़ रहे हैं क्योंकि इस आर्टिकल में आपको जनगणना से जुड़े जानकारी मिलने वाला है जिसे आप ढूंढ रहे हैं। इसलिए पूरी आर्टिकल जरूर पढ़े।


जैसा कि आप जानते हैं भारत में 2021 का जनगणना होने ही वाली है। इस आर्टिकल में जनगणना से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाला कुछ सामान्य जानकारियां है। तो आगे पढ़िए - जनगणना किसे कहते हैं? Janganana Kise Kahte Hai? / जनगणना क्या है? Janganana Kya Hai?

जनगणना किसे कहते हैं? Janganana Kise Kahte Hai?

किसी देश (Country) या किसी भी क्षेत्र (Area) में रहने वाले लोगों के बारे में विधिवत रूप से सूचना प्राप्त करना और उसे अभिलेख (Record) करना जनगणना (Census) कहलाती है। जनगणना (Census) एक निश्चित समान्तराल (fixed parallel) के बाद की जाती है और शासकीय आदेश (Government Order) के तहत की जाती है।

आगे पढ़िए - जनगणना क्यों महत्वपूर्ण है? - Janaganana Kyo Mahatvapurn Hai?/ जनगणना क्यों आवश्यक है?

जनगणना क्यों महत्वपूर्ण है? - Janaganana Kyo Mahatvapurn Hai?

जनगणना क्यों की जाती है? सरकार देश की जनता के द्वारा बनाई जाती है और सरकार अपना कर्तव्य निर्वहन करते हुए देश की जनता के लिए कल्याणकारी नीतियां और योजनाए बनाती है जिसके लिये आँकड़ों की बार-बार जरूरत पड़ती है। जनगणना आँकड़े प्रभावी और सफल लोक प्रशासन के लिए भी महत्वपूर्ण स्त्रोत होता हैं। लोकसभा, विधानसभा, पंचायत चुनाव में सीटों की बटवारा में भी जनगणना के आंकड़ों के आधार पर किया जाता है। हर सरकार अपने क्षेत्राधिकार के तहत विभिन्ना प्रशासनिक इकाइयों में योजनाओं एवं विकास कार्यक्रमों के लिए जनगणना के आँकड़ों के आधार पर ही राजस्व का विरतण करती हैं। जनगणना के आधार पर ही बेघर लोगो की रहने/घर की व्यवस्था किया जाता है इत्यादि। इसलिए जनगणना महत्वपूर्ण है।

जनगणना के जरिए कौन कौन सी जानकारियां एकत्रित की जाती है?

जनगणना के जरिए सरकार अपने नागरिकों के जीवन से जुड़ी जनगणनाकर्मियों द्वारा अनेक महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ एकत्र करती है। जैसे - उनका नाम, जन्मतिथि / उम्र, लिंग, साक्षरता, मातृभाषा, धर्म, वैवाहिक स्थिति इत्यादि। आगे पढ़िए - जनगणना रिपोर्ट से क्या पता चलता है? Janaganana Report Se Kya Pata Chalta Hai?

जनगणना रिपोर्ट से क्या पता चलता है? - Janaganana Report Se Kya Pata Chalta Hai?

जनगणना रिपोर्ट से किसी देश या क्षेत्र के जनसंख्या, लिंगानुपात, साक्षरता दर, जनसंख्या घनत्व, धर्म की जनसंख्या, शिक्षा दर, भाषा, इत्यादि की जानकारी मिलती है।

भारत में कितने वर्षों के अंतराल के पश्चात जनगणना की जाती है?

जनगणना कितने सालों में होती है? ब्रिटिश सरकार के समय 1872 में वायसराय लॉर्ड मेयो के अधीन पहली बार कराई गयी थी। उसके बाद से भारत में हर 10 वर्षों के अंतराल के पश्चात जनगणना की जाती है। हालाकि भारत की पहली संपूर्ण जनगणना 1881 में हुई। आख़िरी जनगणना वर्ष 2011 में हुई थी और 2021 में अगली जनगणना होनी है।

वर्तमान में भारत की जनसंख्या कितने हैं?

WorldoMeters.info वेबसाइट जो विश्व के जनसंख्या वृद्धि दर संबंधी आंकड़ों पर नजर रखती है। इस वेबसाइट पर विश्व के किसी भी देश के Live जनसंख्या देखा जा सकता है, के अनुसार भारत की वर्तमान जनसंख्या (India Current Population) 13.96 अरब (1,396,105,124) यानी 139.6 करोड़ हो चुकी है। वहीं, संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या के रिपोर्ट के अनुसार भारत की आबादी (India Population) 1.21 अरब यानी 121 करोड़ है।

FAQ:-

Q1. 2021 की जनगणना का आदर्श वाक्य क्या है?
Ans:- भारत के जनगणना 2021 का आदर्श वाक्य का विषय (थीम) “जन भागीदारी से जनकल्याण” है।

Q2. भारत में 2021 की जनसंख्या कितनी है?
Ans:- भारत में 2021 की जनसंख्या जनगणना 2021 होने के बाद ही पता चलेगी। 2021 की जनगणना देश की 16 वीं जनगणना है, जो अभी तक आरंभ नही हुई है।

Q3. 2021 की जनगणना कितनी भाषाओं में होगी?
Ans:- केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2019 के सितंबर महीने में कहा था कि 2021 की राष्ट्रीय जनगणना (National Census) पूरी तरह से मोबाइल फोन एप्लिकेशन (Mobile Phone Application) के माध्यम से आयोजित की जाएगी। 2021 की जनगणना 16 भाषाओं में की जाएगी।

Q4. वर्तमान में जनगणना आयुक्त कौन है?
Ans:- देश के आजादी के बाद से जनगणना (Census) भारत सरकार के गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) के अधीन भारत के महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त (Registrar General & Census Commissioner) द्वारा कराई जाती है. भारत के महापंजीयक और जनगणना आयुक्‍त विवेक जोशी (Vivek Joshi) हैं।

Q5. भारत में पहली बार जनगणना कब हुआ था?
Ans:- भारत में पहली बार जनगणना वर्ष 1872 में हुआ था। वहीं स्वतंत्र भारत में पहली बार वर्ष 1951 में जनगणना हुई।

Q6. भारत में अब तक कितनी जनगणना हो चुकी है?
Ans:- भारत में 2011 तक 15 बार जनगणना की जा चुकी है।

पिछली जनगणना 2011 से कुछ प्रश्न इस प्रकार है
Q7. भारत की जनसंख्या 2011 के अनुसार कितनी है?
Ans:- भारत की जनसंख्या 2011 के अनुसार 1,21,08,54,977 (1.21 करोड़) है।

Q8. जनगणना 2011 के अनुसार भारत की जनसंख्या वृद्धि दर कितनी रही है?
Ans:- जनगणना 2021 के अनुसार, 2001 से 2011 के बीच भारत की जनसंख्या वृद्धि दर 17.72% रही है।

Q9. भारत का जनघनत्व कितना है?
Ans:- जनगणना 2011 के अनुसार, भारत का जनघनत्व 382 प्रति वर्ग किमी है।

भारत के आजादी के समय जनसंख्या
Q10. 1947 में भारत की जनसंख्या कितनी थी?
Ans:- 1947 में भारत की जनसंख्या 33 करोड़ थी।

दोस्तो, आशा है इस आर्टिकल में दी गई जानकारी - जनगणना किसे कहते हैं? Janganana Kise Kahte Hai? / जनगणना से आप क्या समझते हैं? / जनगणना का क्या अर्थ है? क्यों जनगणना महत्वपूर्ण है? जनगणना रिपोर्ट से क्या पता चलता है? 2021 की जनगणना का आदर्श वाक्य क्या है? भारत में 2021 की जनसंख्या कितनी है? 2021 की जनगणना कितनी भाषाओं में होगी? 1947 में भारत की जनसंख्या कितनी थी? जनगणना क्यों आवश्यक है? जनगणना से क्या लाभ होता है? आपको पसंद आये हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करे और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। धन्यवाद
Read More