होमसामान्य ज्ञानअन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं | Anya Pichhada Varg Kise Kahate...

अन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं | Anya Pichhada Varg Kise Kahate Hain

क्या आप जानना चाहते हैं कि “अन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं? Anya Pichhada Varg Kise Kahate Hain तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पढ़ रहे हैं क्योंकि इस आर्टिकल में पिछड़ा वर्ग (Pichda Varg) के परिभाषा या अर्थ से जुड़े सवालों का उत्तर आपको पढ़ने को मिलेगा। अतः इस आर्टिकल को अंत तक एक बार जरूर पढ़ें।

सबसे पहले आप जानिए “पिछड़ा वर्ग या जाति” को “अन्य पिछड़ा वर्ग” अंग्रेजी में “Other Backward Class” और संक्षिप्त में “OBC (ओबीसी)” लिखा और बोला जाता है।

anya pichhada varg, पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं, pichda varg, anya pichda varg, pichhada varg, anya pichhada varg
अन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं? Anya Pichhada Varg Kise Kahate Hain

विषय सूची

अन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं | Anya Pichhada Varg Kise Kahate Hain

राजनीतिक कोश’ के अनुसार“पिछड़े वर्गों का अभिप्राय समाज के उन वर्गों से है, जो सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े होने के कारण समाज के अन्य वर्गों की तुलना में निचले स्तर पर हों।”पिछड़ा वर्ग में सामान्यतः नाई, बढ़ई, कुर्मी, अहीर, कुम्हार, बनिया इत्यादि जातियाँ आती हैं। यहाँ पढ़े राज्यवार पिछड़ा जाति सूची

पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं anya pichda varg, obc kise kahate hain

भारत के संविधान के अनुच्छेद 15(4), 16(4) और 340(1) में “पिछड़े वर्ग (backward class)” शब्द का उल्लेख किया गया है। अनुच्छेद 15(4) एवं 16(4) में प्रावधान किया गया है कि राज्य द्वारा सामाजिक और शैक्षिक रूप से “पिछड़े वर्गों ” के कल्याण के लिये विशेष प्रावधान किया जा सकता है या विशेष सुविधाएँ दी जा सकतीं हैं

भारत के संविधान के अनुच्छेद 15(4) क्या है?

इस अनुच्छेद की या अनुच्छेद 29 के खंड (2) की कोई बात राज्य को सामाजिक और शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े हुए नागरिकों के किन्हीं वर्गों की उन्नति के लिए या अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लिए कोई विशेष उपबंध करने से निवारित नहीं करेगी।

भारत के संविधान के अनुच्छेद 16(4) क्या है?

इस अनुच्छेद की कोई बात राज्य को पिछड़े हुए नागरिकों के किसी वर्ग के पक्ष में, जिनका प्रतिनिधित्व राज्य की राय में राज्य के अधीन सेवाओं में पर्याप्त नहीं है, नियुक्तियों या पदों के आरक्षण के लिए उपबंध करने से निवारित नहीं करेगी।

संविधान के अनुच्छेद 340 क्या है?

पिछड़े वर्गों की दशाओं के अन्वेषण के लिए आयोग की नियुक्ति(1) राष्ट्रपति, भारत के राज्यक्षेत्र के भीतर सामाजिक और शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े वर्गों की दशाओं के और जिन कठिनाइयों को वे झेल रहे हैं उनके अन्वेषण के लिए और उन कठिनाइयों को दूर करने और उनकी दशा को सुधारने के लिए संघ या किसी राज्य द्वारा जो उपाय किए जाने चाहिएं उनके बारे में और उस प्रयोजन के लिए संघ या किसी राज्य द्वारा जो अनुदान किए जाने चाहिएं और जिन शर्तों के अधीन वे अनुदान किए जाने चाहिएं उनके बारे में सिफारिश करने के लिए, आदेश द्वारा, एक आयोग नियुक्त कर सकेगा जो ऐसे व्यक्तियों से मिलकर बनेगा जो वह ठीक समझे और ऐसे आयोग को नियुक्त करने वाले आदेश में आयोग द्वारा अनुसरण की जाने वाली प्रक्रिया परिनिश्चित की जाएगी।

(2) इस प्रकार नियुक्त आयोग अपने को निर्देशित विषयों का अन्वेषण करेगा और राष्ट्रपति को प्रतिवेदन देगा, जिसमें उसके द्वारा पाए गए तथ्य उपवर्णित किए जाएंगे और जिसमें ऐसी सिफारिशें की जाएंगी जिन्हें आयोग उचित समझे।

(3) राष्ट्रपति, इस प्रकार दिए गए प्रतिवेदन की एक प्रति, उस पर की गई कार्रवाई को स्पष्ट करने वाले ज्ञापन सहित, संसद् के प्रत्येक सदन के समक्ष रखवाएगा।

FAQ:-

  1. OBC – ओबीसी का फुल फॉर्म क्या होता है?

    OBC – ओबीसी का फुल फॉर्म Other Backward Class होता है?

  2. ओबीसी जाति में कौन कौन से जाति आते हैं?

    ओबीसी जाति में यादव, कुर्मी, कुशवाहा, मल्लाह, बिंद, राजभर, वनपर, जदुपतिया, परथा, बनिया, सोनार, सूत्रधार, कुम्हार, तुरहा, नाई, नोनिया, बढ़ई, हलुवाई,घटवार, कलवार, जट इत्यादि जातियां आते हैं। यहाँ पढ़े राज्यवार ओबीसी जाति सूची

  3. भारतीय संविधान में पिछड़े वर्गों के लिए क्या प्रावधान है?

    भारतीय संविधान में पिछड़े वर्गों के लिए सामाजिक एवं शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग के रूप में उलेखित किया जाता है, और भारत सरकार उनके सामाजिक और शैक्षिक विकास को सुनिश्चित करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के रोजगार और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में 27% आरक्षण के प्रावधान हैं।

  4. अन्य पिछड़ा वर्ग हेतु कितने प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है?

    अन्य पिछड़ा वर्ग हेतु 27% प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है।

  5. ओबीसी आरक्षण कब लागू हुआ?

    2006 से केन्द्रीय सरकार के शैक्षिक संस्थानों में ओबीसी (अन्य पिछड़े वर्गों) के लिए आरक्षण शुरू हुआ।

  6. प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग कब बना तथा इसकी अध्यक्षता किसने की?

    प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग जनवरी 1953 में बना तथा इसकी अध्यक्षता काका कालेलकर किये थे।

  7. प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन कब किया गया?

    प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन जनवरी, 1953 किया गया।

  8. प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष कौन थे?

    प्रथम पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष काका कालेलकर थे।

  9. राष्ट्रीय पिछड़ा आयोग की स्थापना कब की गई?

    राष्ट्रीय पिछड़ा आयोग की स्थापना 14 अगस्त, 1993 में की गई।

  10. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन क्यों किया गया?

    1992 के इंद्रा साहनी मामले में भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने सरकार को निर्देश दिया था कि वह लाभ और सुरक्षा के उद्देश्य से विभिन्न पिछड़े वर्गों के समावेशन और बहिष्करण पर विचार करने तथा जाँच एवं सिफारिश के लिये एक स्थायी निकाय का गठन करे। इसलिए राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन किया गया।

  11. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के वर्तमान अध्यक्ष कौन हैं?

    राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के वर्तमान अध्यक्ष श्री हंसराज गंगाराम अहीर हैं।

  12. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग का कार्यकाल कितना होता है?

    राष्ट्रीय पिछड़ा आयोग के अध्‍यक्ष और सदस्‍यों का कार्यकाल पदभार ग्रहण करने की तारीख से तीन वर्ष का होगा। एक सदस्‍य को सिर्फ दो बार ही आयोग में नियुक्‍त किया जा सकता है। आयोग के किसी भी पद पर एक व्‍यक्ति को तीसरी नियुक्ति का प्रावधान नहीं है। सदस्‍यों द्वारा त्‍याग पत्र देने या हटाने की प्रक्रिया भी नियमावली में बतायी गयी है।

  13. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग कौन से अनुच्छेद में है?

    भारतीय संविधान के अनुच्छेद 340 में सामाजिक व शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गो के लिये आयोग बनाने का उल्लेख किया गया है और इसके आधार पर ही 1953-55 में काका कालेकर आयोग का व 1978-80 में मंडल कमीशन का गठन किया गया था।

  14. ओबीसी वर्ग में क्या क्रीमी लेयर और गैर क्रीमी लेयर के बीच अंतर है?

    ओबीसी (पिछड़ा वर्ग) को दो श्रेणी में बांटा गया है – क्रीमी लेयर और नॉन क्रीमी लेयर।
    – ओबीसी में क्रीमी लेयर क्या है? – ओबीसी वर्ग के किसी परिवार का वार्षिक आय 8 लाख से अधिक है तो उस परिवार को क्रीमी लेयर (Creamy Layer) के श्रेणी में रखा गया है। इन्हें नौकरी और शिक्षा में 27% आरक्षण नहीं मिलता है।

    – ओबीसी में नॉन क्रीमी लेयर क्या है? ओबीसी वर्ग के किसी परिवार का वार्षिक आय 8 लाख से कम है तो उस परिवार को नॉन क्रीमी लेयर (Non Creamy Layer) के श्रेणी में रखा गया है। इन्हें नौकरी और शिक्षा में 27% आरक्षण मिलता है।

संबंधित अन्य जानकारी:-

दोस्तो, आशा है इस आर्टिकल में शेयर की गई जानकारी – अन्य पिछड़ा वर्ग किसे कहते हैं? Anya Pichhada Varg Kise Kahate Hain या obc kise kahate hain आपको पसंद आया हो तो सोशल मीडिया फेसबुक , ट्विटर, व्हाट्सएप, और टेलीग्राम पर दुसरो तक शेयर करें और नीचे कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। धन्यवाद

Satish
Satish
सतीश कुमार शर्मा ApnaLohara.Com नेटवर्क के संस्थापक और एडिटर-इन-चीफ हैं। वह एक आदिवासी, भारतीय लोहार, लेखक, ब्लॉगर और सामाजिक कार्यकर्ता हैं।
- विज्ञापन -

1 COMMENT

  1. Sir, I belong to kuleen brahmin caste ( nai ) which is considered as OBC in punjab.i want OBC certificate for my daughter in law. my son is govt employee. he is not class 1 officer. is there any creteria that before 40 years of age ,if govt employee not reached the status of class 1. he can get OBC certificate.thanking u.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen + twelve =

- विज्ञापन -

लोकप्रिय पोस्ट

- विज्ञापन -